डीआरएम/अंबाला ने छीना पत्रकार का कैमरा और मोबाइल

    डीआरएम सहित चार अधिकारियों के खिलाफ जीआरपी में दर्ज हुई रिपोर्ट

    अंबाला : उत्तर रेलवे, अंबाला मंडल के मंडल रेल प्रबंधक (डीआरएम) दिनेश चंद्र शर्मा मंगलवार, 23 जनवरी को अंबाला छावनी रेलवे स्टेशन का निरीक्षण कर रहे थे. तभी उन्होंने उनकी फोटो लेने वाले दैनिक जागरण के फोटो जर्नलिस्ट राहुल सिद्धू को अपने पास बुलाकर उसका कैमरा और मोबाइल छीन लिया और उसके साथ दुर्व्यवहार भी किया. डीआरएम ने कैमरा छीनकर आरपीएफ को सौंप दिया. डीआरएम श्री शर्मा द्वारा किया गया यह कार्य न सिर्फ अनावश्यक था, बल्कि गैर-कानूनी और मीडिया की आजादी के विरुद्ध भी था.

    इसके बाद दैनिक जागरण के चीफ रिपोर्टर दीपक बहल, रिपोर्टर हरीश कोचर और फोटो जर्नलिस्ट राहुल सिद्धू ने इस मामले को लेकर जीआरपी थाना प्रभारी राम बचन से मिले. राहुल सिद्धू ने डीआरएम की लिखित शिकायत जीआरपी थाना प्रभारी को दी. डीआरएम के साथ स्टेशन निदेशक, स्टेशन अधीक्षक और डीआरएम के गनमैन (आरपीएफ जवान) तथा एक अन्य आरपीएफ का जवान था. जीआरपी थाने में मामला पहुंचने के बाद एफआईआर दर्ज करने से डरे अधिकारियों ने तत्काल कैमरा और मोबाइल जीआरपी थाने में पहुंचा दिया. जीआरपी प्रभारी ने बाद में कैमरा और मोबाइल फोटो जर्नलिस्ट राहुल सिद्धू का सौंप दिया. फोटो जर्नलिस्ट की शिकायत पर डीआरएम सहित चार अधिकारियों के खलाफ रोजनामचा सं. 021 दर्ज कर ली गई है.

    दैनिक जागरण के चीफ रिपोर्टर दीपक बहल का कहना है कि उनके द्वारा लगातार अंबाला मंडल के भ्रष्टाचार को उजागर किए जाने से अंबाला मंडल के डीआरएम सहित सभी अधिकारी बौखलाए हुए हैं. उनका कहना था कि इसी बौखलाहट के परिणामस्वरूप डीआरएम दिनेश चंद्र शर्मा ने फोटो जर्नलिस्ट का कैमरा और मोबाइल छीन लिया, जो कि मीडिया की आजादी और उसके काम में अनावश्यक एवं गैर-कानूनी दखल है. इस संबंध में ‘रेलवे समाचार’ ने डीआरएम श्री शर्मा से उनके मोबाइल पर कई बार संपर्क करने की कोशिश की. बाद में एसएमएस भेजकर भी उनका पक्ष जानने की पूरी कोशिश की, तथापि उनकी तरफ से कोई रिस्पांस नहीं मिला.


    अमृतसर वर्कशॉप में उल्टा फहराया गया राष्ट्रध्वज

    अमृतसर : रेलवे वर्कशॉप अमृतसर में 69वें गणतंत्र दिवस के मौके पर राष्ट्रीय ध्वज का अपमान हुआ. गणतंत्र दिवस, 26 जनवरी 2018 के अवसर पर उल्टा ध्वजारोहण होने के कारण प्रशासन को खासी फजीहत झेलनी पड़ी. इस मौके पर अमृतसर वर्कशॉप के मुख्य कारखाना प्रबंधक संजय गोयल ने उलटे झंडे को ही सालामी दे डाली और राष्ट्रगान भी उलटे झंडे के साथ ही गाया गया. कर्मचारियों के रोष के बाद आनन-फानन में झंडे को उत्तार कर सीधा किया गया.

    ‘रेलवे समाचार’ को प्राप्त जानकारी के अनुसार कारखाने के अधिकारियों ने बाद में मोबाइल से वीडियो बनाने और फोटो लेने वाले वहां उपस्थित सभी कर्मचारियों को अपने मोबाइल से वीडियो और फोटो डिलीट करने का भी दवाब बनाया. ‘रेलवे समाचार’ को परत वीडियो में स्पष्ट दिखाई दे रहा है कि इस मौके पर उपस्थित अधिकारियों और कर्मचारियों के चेहरों पर परेशानी साफ दिखाई दे रही है. उल्लेखनीय है कि भारतीय ध्वज संहिता के तहत राष्ट्रीय झंडे के अपमान की सजा तीन वर्ष तक की है.


    महाराष्ट्र की झांकी में मध्य रेलवे सांस्कृतिक अकादमी के कलाकारों का उत्कृष्ट प्रदर्शन

    मुंबई : शुक्रवार, 26 जनवरी को देश के 69वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर दिल्ली के राजपथ पर देश के विभिन्न राज्यों की सांस्कृतिक परेड में दर्शाई गई महाराष्ट्र राज्य की खूबसूरत झांकी ‘शिव राज्याभिषेक’ में मध्य रेलवे सांस्कृतिक अकादमी (सीआरसीए) की सुश्री माधवी कदम, अपर्णा शिंदे, एकता और अक्षय आदि कलाकारों ने उत्कृष्ट अभिनय प्रतिभा का प्रदर्शन किया. इस उत्कृष्ट कलात्मक झांकी का संकल्पना सीआरसीए के प्रतिभाशाली कलाकार नितिन देसाई की थी. मध्य रेलवे के लिए यह अत्यंत गर्व का क्षण था. इससे पहले राजभवन में हुए अंतरराज्यीय नृत्य प्रतियोगिता में सीआरसीए के कलाकारों को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ. मध्य रेलवे के महाप्रबंधक देवेंद्र कुमार शर्मा ने सीआरसीए के सभी कलाकारों को इन दोनों उत्कृष्ट कार्यों के लिए बधाई दी है.

सम्पादकीय