ट्रैकमैनों से केवल ट्रैक अनुरक्षण से संबंधित कार्य ही लिया जाए -एम.सी.चौहान

    महाप्रबंधक/उत्तर मध्य रेलवे एम. सी. चौहान द्वारा झांसी-भीमसेन खंड का निरीक्षण

    इलाहाबाद ब्यूरो : उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक एम. सी. चौहान ने 31 अगस्त को झांसी-भीमसेन खंड का निरीक्षण किया. झांसी पहुंचकर उन्होंने सर्वप्रथम सभी शाखाधिकारियों के साथ बैठक की. बैठक के दौरान उन्होंने निर्देश दिए कि सभी अधिकारी अपने पर्यवेक्षकों एवं अन्य स्टाफ से सदैव जुड़े रहें तथा सभी सहायक मंडल अभियंता विशेष रूप से ध्यान दें कि उनका सुपरवाइजर फील्ड पर है या नहीं, और यदि फील्ड पर कार्यरत है, तो क्या कर रहा है. उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी उनके अधीन कार्यरत कर्मचारियों को उनके कार्य के प्रति संपूर्ण जानकारी दें तथा उनके कार्य से संबंधित एवं व्यक्तिगत परेशानियों को खत्म करने का प्रयास करें.

    महाप्रबंधक श्री चौहान ने कहा कि ट्रैकमैनों से केवल ट्रैक अनुरक्षण से संबंधित कार्य ही लिया जाए. ट्रैक के आस पास खुदाई का कार्य करते समय केबल लोकेटर का प्रयोग करें और इस दौरान साइट पर पर्यवेक्षक का उपस्थित होना अनिवार्य है. सभी सिग्नल सर्किट में सर्ज अर्रेस्टर का प्रयोग किया जाए, ताकि उनके खराब होने की संभावना न्यूनतम हो. उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रिक इंजन की विश्वसनीयता को बढ़ाए जाने की आवश्यकता है तथा झांसी स्टेशन की प्लेटफार्म सतह पर और सुधार की आवश्यकता है. बैठक के अंत में श्री चौहान ने कहा कि सभी अधिकारी संरक्षा एवं सुरक्षा से संबंधित मामलों में शोर्ट कट का प्रयोग कतई न करें, हर कार्य के लिए निर्धारित नियमों का पालन सुनिश्चित किया जाए.

    बैठक के बाद महाप्रबंधक झांसी-भीमसेन खंड के निरीक्षण हेतु रवाना हुए. झांसी से उरई के मध्य निरीक्षण के दौरान महाप्रबंधक द्वारा रेलवे ट्रैक के रख-रखाव का गहन निरीक्षण किया तथा सूक्ष्म से सूक्ष्म खामी भी न हो, इस पर आवश्यक निर्देश दिए. उरई स्टेशन पर उन्होंने खान-पान इकाई, बुकिंग हॉल, सरकुलेटिंग एरिया एवं वेटिंग हॉल का निरीक्षण किया और आगे के निरीक्षण हेतु भीमसेन की ओर रवाना हो गए. उन्होंने किमी. संख्या 1251/52 पर रुक कर गैंगमैन से बातचीत की तथा उसका प्रोत्साहन करते हुए उसके विचार/सुझाव नोट कराए. इसके बाद पुखरायां स्टेशन पर उन्होंने सरकुलेटिंग एरिया में पार्क बनवाने हेतु निर्देश दिए. खान-पान इकाईयों का निरीक्षण किया तथा अधिकृत अन्य ब्रांड के पेयजल कि अपेक्षा रेल नीर बिक्री करने हेतु निर्देश दिए.

    उन्होंने यहां वेटिंग हॉल, रिटायरिंग रूम के निरीक्षण के साथ-साथ स्टेशन पर साफ-सफाई व्यवस्था बनाए रखने पर जोर दिया. पुखरायां से लालपुर तक कुल 15 किमी. का निरीक्षण महाप्रबंधक द्वारा पैदल एवं ट्राली के माध्यम से किया गया, इसी बीच उन्होंने ब्रिज संख्या 1301 का भी का मुआयना किया और आवश्यक निर्देश दिए. इसके बाद लालपुर से भीमसेन खंड का निरीक्षण विंडो-ट्रेलिंग के माध्यम से किया.

सम्पादकीय