डीजी/एसएंडटी अखिल अग्रवाल से मिला आईआरएसटीएमयू का प्रतिनिधि मंडल

    सुरक्षित एवं संरक्षित रेल संचालन हेतु उपयोगी हैं अनुरक्षकों के साथ अधिकारियों की मुलाकातें

    नई दिल्ली : भारतीय रेलवे संकेत एवं दूरसंचार अनुरक्षक संघ (आईआरएसटीएमयू) के राष्ट्रीय अध्यक्ष नवीन कुमार के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल ने 24 जुलाई को डीजी/एसएंडटी अखिल अग्रवाल से रेल भवन, नई दिल्ली में मुलाकात करके संकेत एंव दूरसंचार विभाग के कर्मचारियों की स्थिति के बारे में चर्चा की. श्री अग्रवाल ने चर्चा के दौरान कई मुद्दों पर अपनी सहमति जताई तथा कई मुद्दों पर कार्यवाही करने का भरोसा भी दिया है. जिन मुद्दों पर उनकी सहमति हुई है, उनमें निम्न मुद्दे शामिल हैं.

    1. संकेत एवं दूरसंचार विभाग के कर्मचारियों के लिए शीघ्र ही रोस्टर ड्यूटी एवं नाईट गैंग भारतीय रेल के सभी मंडलों पर लागू कर दिया जाएगा. 2. एसईएम पार्ट-2 के पैरा 11.5.1 में जल्दी ही संशोधन किया जाएगा और उसमें ‘ऑन ड्यूटी मेंटेनर्स’ जोड़ा जाएगा. 3. यूनिफार्म में भी बदलाव के लिए डीजी ने सहमति जताई है. 4. यार्ड स्टिक में संशोधन की भी बात कही तथा इसे जमीनी स्तर पर लागू कराने के लिए आश्वासन दिया. 5. सिग्नल मेंटेनर की शैक्षिक योग्यता पर उनका कहना था कि मान्यताप्राप्त लेबर फेडेरेशन खुद ही इस विषय पर अपनी पीएनएम से मुकर गई हैं. 6. सभी स्टेशनों पर ड्यूटी रुम की व्यवस्था किए जाने का आश्वासन दिया है. 7. एसएंडटी कर्मचारियों को रेलवे क्वार्टर देने में प्राथमिकता देने का भी आश्वासन दिया है. 8. ओवर टाइम एवं नाईट ड्यूटी अलाउंस सभी एसएंडटी कर्मचारियों को दिलाने का आश्वासन दिया है. 9. अन्य सुविधाओं से वंचित एसएंडटी कर्मचारियों के लिए भी कार्यवाही करने का भरोसा दिलाया है.

    इस मुलाकात के दौरान एडीशनल मेंबर/सिग्नल एन. काशीनाथ भी उपस्थित थे. भारतीय रेलवे संकेत एवं दूरसंचार अनुरक्षक संघ’ की ओर से राष्ट्रीय अध्यक्ष नवीन कुमार ने प्रतिनिधि मंडल का नेतृत्व किया. मुलाकात के बाद ‘रेलवे समाचार’ से बात करते करते हुए नवीन कुमार ने कहा कि सिग्नल मैनुअल में सुधार, ड्यूटी रोस्टर, ओवर टाइम भत्ता, नाइट गैंग, स्टेशन में संकेत एवं दूरसंचार अनुरक्षक का ड्यूटी रूम, हेल्परों को जल्द प्रमोशन देने, ट्रेनिंग स्कूल में उचित प्रशिक्षण, आवास की उचित व्यवस्था करने, अनुरक्षकों के टूल्स एवं मटेरियल की अच्छी गुणवत्ता, जोखिम एवं संरक्षा भत्ता इत्यादि मुद्दों पर विशेष चर्चा हुई. उन्होंने कहा कि श्री अग्रवाल ने सभी समस्याओं का शीघ्र निवारण करने की प्रतिबद्धता जताई है. प्रतिनिधि मंडल में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष महबूब संधि, कार्यकारिणी सदस्य शशांक कुमार सक्सेना, योगश परिहार, अब्बास अली एवं अजय शंकर शामिल थे.

    इससे पहले 19 जुलाई को ‘भारतीय रेलवे संकेत एवं दूरसंचार अनुरक्षक संघ’ के राष्ट्रीय अध्यक्ष नवीन कुमार ने दक्षिण पूर्व रेलवे, चक्रधरपुर मंडल के मंडल अध्यक्ष रंजीत कुमार, मंडल उपाध्यक्ष रामलीलन राय, मंडल उपाध्यक्ष एन. सी. आचार्य, अभिमन्यु कुमार, गगन कुमार, अमरेश कुमार झा के साथ मंडल रेल प्रबंधक, चक्रधरपुर मंडल छत्रसाल सिंह से औपचारिक भेंट की. संकेत एवं दूरसंचार विभाग में ड्यूटी रोस्टर पर डीआरएम छत्रसाल सिंह के साथ विशेष रूप से चर्चा हुई.

    इस अवसर पर डीआरएम श्री सिंह के साथ वरिष्ठ मंडल कार्मिक अधिकारी एवं वरिष्ठ मंडल संकेत एवं दूरसंचार अभियंता भी उपस्थित थे. अनुरक्षक संघ के पदाधिकारियों द्वारा वरिष्ठ रेल अधिकारियों के साथ इस प्रकार की मेल-मुलाकातें किए जाने और उनके द्वारा कार्य के दौरान आने वाली समस्याओं से सीधे उन्हें अवगत कराए जाने से अधिकारी वर्ग को कर्मचारियों के प्रति ज्यादा संवेदनशील ढ़ंग से विचार करने का अवसर मिलेगा. सुरक्षित एवं संरक्षित रेल संचालन के लिए इस प्रकार की मुलाकातें अत्यंत उपयोगी हैं.


    जेई/वर्क्स/निर्माण मधु समझदार की हत्या के विरोध में ईसीआरकेयू का मोर्चा

    पटना : पूर्व मध्य रेलवे निर्माण संगठन में जेई/वर्क्स के पद पर धनबाद मंडल में कार्यरत मधु समझदार की हत्या के विरोध में पूर्व मध्य रेलवे कर्मचारी यूनियन ने 7 जुलाई को निर्माण संगठन के महेंद्रू घाट, पटना स्थित कार्यालय के समक्ष एक मोर्चा निकालकर इस अमानवीय घटना के विरुद्ध अपना आक्रोश व्यक्त किया. जेई स्व. समझदार 4 जुलाई से लापता थे. उनकी मृतदेह 6 जुलाई को कार्यस्थल बालूमाथ के पास एक गड्ढ़े से बरामद हुई.

    यूनियन ने उनकी हत्या को हादसा बताए जाने पर क्षोभ व्यक्त किया है, क्योंकि यूनियन की नजर में प्रथम दृष्टया यह हत्या का मामला है. यूनियन ने मांग की है कि घटना की जांच सीबीआई से कराई जाए. यूनियन की मांग पर रेल प्रशासन द्वारा स्व. समझदार का समस्त निपटारा भुगतान उनके परिजनों को कर दिया गया है.

सम्पादकीय