पूर्वोत्तर रेलवे ने निर्धारित लक्ष्य से अधिक कार्य का रिकार्ड स्थापित किया है -रवींद्र गुप्ता

    मेंबर रोलिंग स्टॉक, रेलवे बोर्ड रवींद्र गुप्ता का पूर्वोत्तर रेलवे का निरीक्षण दौरा सम्पन्न

    गोरखपुर ब्यूरो : मेंबर रोलिंग स्टॉक, रेलवे बोर्ड रवींद्र गुप्ता ने बुधवार, 5 जुलाई को महाप्रबंधक सभाकक्ष, गोरखपुर में आयोजित एक बैठक में पूर्वोत्तर रेलवे के महाप्रबंधक सत्य प्रकाष त्रिवेदी, अपर महाप्रबंधक एस. एल. वर्मा, मुख्य यांत्रिक इंजीनियर ए. के. सिंह एवं सभी विभाग प्रमुखों के साथ यांत्रिक विभाग की कार्य-प्रणाली के विभिन्न पक्षों पर व्यापक विचार-विमर्श किया. बैठक को सम्बोधित करते हुए मेंबर, रोलिंग स्टॉक रवींद्र गुप्ता ने पूर्वोत्तर रेलवे के यांत्रिक विभाग की कार्य कुशलता एवं उपलब्धियों की सराहना की.

    उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर रेलवे के यांत्रिक विभाग ने रेलवे बोर्ड द्वारा निर्धारित लक्ष्यों को पूरा करने के साथ ही अनेक क्षेत्रों में लक्ष्य से अधिक कार्य करने के रिकार्ड भी स्थापित किए हैं. श्री गुप्ता ने कहा कि रेलवे बोर्ड द्वारा क्षेत्रीय रेलों पर संरक्षा, समय पालन एवं साफ-सफाई की विशेष रूप से मानिटरिंग की जा रही है. उन्होंने कहा कि संरक्षित रेल संचलन सुनिष्चित करने में सभी विभागों की महत्वपूर्ण भूमिका है.

    मेंबर, रोलिंग स्टॉक ने कहा कि आने वाले दिनों में बड़ी संख्या में तृतीय वातानुकूलित श्रेणी के कोच प्रयोग में लाए जाएंगे. इस परिप्रेक्ष्य में उन्होंने गोरखपुर मैकेनाइज्ड लांड्री की चार टन की वर्तमान क्षमता को बढ़ाकर 5.5 टन करने का निर्देश दिया. रोलिंग स्टॉक के अनुरक्षण पर विशेष ध्यान दिए जाने पर जोर देते हुए श्री गुप्ता ने कहा कि अंडर गियर के अनुरक्षण को उच्च प्राथमिकता दी जाए. उन्होंने रोलिंग लाईट एवं पिट लाईट को उत्कृष्ट स्तर का बनाए रखने का निर्देश दिया. साथ ही पिट लाईन में पानी की निकासी की समुचित व्यवस्था सुनिष्चित करने का कहा.

    यांत्रिक कारखानों के स्तर में निरन्तर सुधार के लिए सजग रहने का सुझाव देते हुए उन्होंने कहा कि यांत्रिक कारखानों की गुणवत्ता को जांचने के लिए रेटिंग की नई व्यवस्था लागू की जा रही है. उन्होंने कारखानों में पर्याप्त मात्रा में औजार एवं स्पेयर पार्टस की उपलब्धता पर ध्यान देने का निर्देश दिया. श्री गुप्ता ने कहा कि रेलवे बोर्ड द्वारा पिट लाइनों तथा कारखानों में सुधार के लिए अलग-अलग 100 करोड़ रु. की धनराशि स्वीकृत की गयी है. उन्होंने कहा कि फिटर्स हेतु उन्नत किस्म का किट उपलब्ध कराया जा रहा है, जिसमें सभी प्रकार के गुणवत्तापूर्ण औजार उपलब्ध हैं.