प्लेटफॉर्मों को लंबे रेकों की आवश्यकता के मद्देनजर निर्मित किया जाए-एम.सी.चौहान

    टर्मिनल स्टेशन के रूप में विकसित करने की दृष्टि से सूबेदारगंज स्‍टेशन का निरीक्षण

    इलाहाबाद ब्यूरो : महाप्रबंधक, उत्‍तर मध्‍य रेलवे एम. सी. चौहान ने शनिवार, 13 मई को सूबेदारगंज रेलवे स्‍टेशन पर किए जा रहे विकास कार्यों की स्‍थ्‍ालीय समीक्षा की दृष्टि से गहन निरीक्षण किया. इस अवसर पर उनके साथ मंडल रेल प्रबंधक, इलाहाबाद संजय कुमार पंकज सहित सभी विभाग प्रमुख एवं इलाहाबाद मंडल के सभी शाखा अधिकारी उपस्थित थे. उल्लेखनीय है कि अति व्‍यस्त मुगलसराय-गाजियाबाद रेल खंड पर स्थित सुबेदारगंज स्‍टेशन को इलाहाबाद जं. को डिकांजस्‍ट करने के उद्देश्य से एक सेटेलाइट स्टेशन के रूप में विकसित किया जा रहा है.

    महाप्रंबधक ने अपना निरीक्षण स्‍टेशन के प्‍लेटफार्म सं. 1 से प्रराम्भ किया. यहां मंडल अधिकारियों द्वारा महाप्रबंधक को स्‍टेशन पर किए जा रहे विकास कार्यों की वर्तमान प्रगति एवं प्रस्तावित योजनाओं के विषय में अवगत कराया गया. उन्होंने इस अवसर पर निर्देशित किया कि प्रत्येक कार्य को भविष्‍य कि आवश्‍यकताओं के अनुरूप नियोजित किया जाए एवं दिए गए टाइम फ्रेम के अनुरूप  ही उनको क्रियान्वित भी किया जाए. इसके साथ ही उन्होंने अर्धकुम्‍भ 2019 से जुड़े सभी कार्यों को अप्रैल 2018 की समय-सीमा के अनुरूप पूरा किए जाने का निर्देश दिया.

    निरीक्षण के दौरान महाप्रबंधक को बताया गया कि स्टेशन पर सुविधाओं के विकास के लिए कार्यों में 44.26 करोड़ रु. की लागत आने की संभावना है. इन कार्यों के तहत स्टेशन की सर्कुलेटिंग एरिया एवं स्टेशन भवन का विकास, नए फुटओवर ब्रिज, यात्री आरक्षण काउंटर, सब-स्टेशन, ओवर हेड वाटर टैंक का निर्माण एवं अन्य आवश्यक सुविधाओं से जुड़े कार्यों के साथ ही प्लेटफॉर्म शेल्टर, बेंच, शौचालय, अतिरिक्त वॉटर बूथ एवं हाईड्रेंट पाइप लाइन आदि से जुड़े कार्य भी किए जाने हैं. उन्हें यह भी बताया गया कि सूबेदारगंज स्टेशन पर चार स्वचालित सीढ़ियां लगाने का कार्य भी प्रस्तावित है.

    महाप्रबंधक ने सूबेदारगंज स्टेशन के प्रस्तावित दूसरे प्रवेश द्वार की साइट का भी निरीक्षण करते हुए लेआउट डिजाइन में परिवर्तन के आवश्यक सुझाव दिए. इसी क्रम में महाप्रबंधक ने पुराने अनुपयोगी केबिन को तोड़कर उपलब्ध स्थान का आवश्यक विकास कार्यों के लिए प्रयोग करने का भी निर्देश दिया. लाइन क्षमता के विकास कार्य के लिए महाप्रबंधक ने मुख्य ब्रिज इंजीनियर, उत्तर मध्य रेलवे के मार्गदर्शन में वरिष्ठ मंडल परिचालन प्रबंधक, वरिष्ठ मंडल सिगनल एवं दूरसंचार इंजीनियर, वरिष्ठ मंडल इंजीनियर (समन्वय) और वरिष्ठ मंडल बिजली इंजीनियर (टीआरडी) की उच्चस्तरीय कमेटी का निर्माण किया, जो कि फेज-वाइज विकास कार्यों का फाइनालाइजेशन करेगी. यह कमेटी 20 मई 2017 तक अपनी रिपोर्ट दे देगी.

    महाप्रबंधक ने नए प्लेटफार्मों की चर्चा करते हुए कहा कि सभी प्लेटफॉर्मों को भविष्य के लंबे रेकों की आवश्यकताओं को देखते हुए बनाया जाए. साथ ही सूबेदारगंज–इलाहाबाद सेक्शन की क्षमता बढ़ाने के दृष्टिगत तीसरी लाइन पर ऑटोमेटिक सिग्नलिंग एवं एक क्रॉसओवर लगाने की भी चर्चा हुई, ताकि इलाहाबाद स्टेशन के बाहर होने वाली गाड़ियों का विलंब रोका जा सके और उन्हें डाउन लाइन तथा तीसरी लाइन से एक साथ स्टेशन पर लिया जा सके.

    इस मौके पर उन्होंने सूबेदारगंज स्टेशन को टर्मिनल स्टेशन के रूप में विकसित करने के उद्देशय से दिल्ली छोर पर आईओसी साइडिंग के समानांतर प्रस्तावित वाशिंग लाइन निर्माण स्थल का भी निरीक्षण किया. इस अवसर पर उनको प्रस्तावित ऑटोमेटेड कोच वॉशिंग प्लांट के संदर्भ में भी जानकारी दी गई. महाप्रबंधक ने प्रस्तावों पर संतुष्टि व्यक्त करते हुए सभी परियोजनाओं को निर्धारित लक्ष्यों के अनुरूप क्रियान्वित करने के निदेश दिए.


    उत्तर मध्य रेलवे महिला कल्याण संगठन द्वारा समर हॉबी कैंप की शुरुआत

    उत्तर मध्य रेलवे महिला कल्याण संगठन, मुख्यालय, इलाहाबाद की ओर से 14 मई से 14 जून 2017 तक एक महीने के लिए रेल अधिकारियों एवं कर्मचारियों के बच्चों, महिलाओं तथा गैर रेलवे कर्मचारियों के बच्चों तथा महिलाओं हेतु समर हॉबी कोर्स कैंप की शुरुआत की गई. इस अवसर पर संगठन की अध्यक्ष श्रीमती अमिता चौहान द्वारा हॉबी कैंप का दीप-प्रज्वलित कर उदघाटन किया गया. इस कोर्स की कक्षाएं कलरव, रेलगांव कालोनी, सूबेदारगंज में आयोजित की गई हैं. 14 जून 2017 तक चलने वाले इस समर हॉबी कोर्स में स्केटिंग, ताइक्वान्डो, आर्ट एवं क्राफ्ट, नृत्य/नाटक एवं रंगोली कोर्सों को प्रशिक्षित प्रशिक्षकों के द्वारा सिखाया जाएगा.

    इस अवसर पर अध्यक्ष श्रीमती चौहान द्वारा शिशु-गृह में आया के पद पर कार्यरत श्रीमती छाया देवी को 10 हजार रु. की राशि चिकित्सा हेतु आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की गई. इस मौके पर श्रीमती विभा गढ़वाल, डॉ. श्रीमती मृदुला कपूर, श्रीमती ममता गुप्ता, श्रीमती उर्मिला ओझा, श्रीमती सुप्रिया सिन्हा, श्रीमती मंजुला सिंह, श्रीमती सुरिन्दर रल्ह, श्रीमती बिन्दु सिंघल, श्रीमती अमिता नायक, श्रीमती नम्रता मिश्र, श्रीमती नूपुर अग्रवाल, श्रीमती रिचा नेगी, श्रीमती वर्तिका पांडेय एवं श्रीमती रिंकी रंजन उपस्थित रहीं.

सम्पादकीय