राजभाषा हिंदी में स्वास्थ्य संबंधी परिचर्चा एक सराहनीय प्रयास है -एल.एम.झा

    पूर्वोत्तर रेलवे निर्माण संगठन द्वारा स्वास्थ्य परिचर्चा एवं तकनीकी संगोष्ठी का आयोजन

    गोरखपुर ब्यूरो : पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी/निर्माण एल. एम. झा की अध्यक्षता में निर्माण संगठन, गोरखपुर में 14 फरवरी को हिंदी कार्यशाला के अंतर्गत स्वास्थ्य संबंधी परिचर्चा एवं तकनीकी संगोष्ठी का आयोजन किया गया. संगोष्ठी को संबोधित करते हुए मुख्य प्रशासनिक अधिकारी/निर्माण एल. एम. झा ने कहा कि राजभाषा हिंदी में स्वास्थ्य संबंधी परिचर्चा एक सराहनीय प्रयास है. उन्होंने कहा कि इस प्रकार के आयोजन से राजभाषा हिंदी का प्रचार-प्रसार बढ़ता है, और साथ ही रेलकर्मी विभिन्न प्रकार के रोगों की भयावहता एवं उनकी रोकथाम के उपाय की जानकारी प्राप्त करते हैं.

    तकनीकी संगोष्ठी में ललित नारायण मिश्र रेलवे चिकित्सालय, गोरखपुर के चेस्ट रोग विषेषज्ञ डॉ. नंदकिशोर प्रसाद ने मधुमेह एवं हाइपर टेंशन (उच्च रक्तचाप) रोग के कारण एवं बचाव विषय पर विस्तृत व्याख्यान दिया. डॉ. नंदकिशोर ने मधुमेह रोगियों के खानपान एवं दिनचर्या को भी विस्तार से बताया. उन्होंने उच्च रक्तचाप की भयावहता पर प्रकाश डालते हुए इससे बचाव के विभिन्न पहलुओं एवं चिकित्सीय जांच पर चर्चा की. उप वित्त सलाहकार एवं मुख्य लेखाधिकारी/निर्माण टी. पी. पांडेय ने वित्त संबंधी विभागीय विषय पर विस्तृत जानकारी दी.

    संगोष्ठी में मुख्य इंजीनियर/निर्माण (मुख्यालय) एम. ए. रिजवी, मुख्य इंजीनियर/नियोजन डी. के. सिंह, मुख्य इंजीनियर/निर्माण(उत्तर) रामजन्म, मुख्य इंजीनियर निर्माण(पूर्व) पी. के. गुप्ता, उप वित्त सलाहकार एवं मुख्य लेखाधिकारी/निर्माण एच. एस. महतो, उप मुख्य इंजीनियर/निर्माण (पुल) एन. के. सिंह, उप मुख्य इंजीनियर/निर्माण (ट्रैक) एस.सी.श्रीवास्तव, सचिव/मुख्य प्रषासनिक अधिकारी(निर्माण) पी. के. पाठक, वरिष्ठ राजभाषा अधिकारी वी. डुंगडुंग सहित निर्माण संगठन के सभी अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे. कार्यक्रम का संचालन श्रीमती राजभाषा अधिकारी/निर्माण कमलासिनी तिवारी ने किया.

सम्पादकीय