समाज में आज भी ईमानदारी जिंदा है -डॉ. अशोक त्रिपाठी

    यात्री सुविधा समिति के पूर्व सदस्य डॉ. अशोक त्रिपाठी का सम्मान

    डॉ. त्रिपाठी को रेलयात्रियों के हितार्थ किए कार्यों के लिए किया गया सम्मानित

    बंगलौर : रेलवे बोर्ड की यात्री सुविधा समिति (पीएसी) के पूर्व सदस्य डॉ. अशोक त्रिपाठी को हाल ही में रेलयात्रियों के हितार्थ पूरे देश में किए गए कार्यों के लिए ‘सेंटर फॉर मीडिया एंड सेटेलाइट ब्रॉडकास्टर’ द्वारा बंगलौर में आयोजित एक भव्य समारोह में पत्रकारों, कलाकारों, शिक्षाविदों और अन्य सामाजिक गतिविधियों में कार्यरत कई बड़ी सामाजिक हस्तियों के साथ सम्मानित किया गया. संस्था द्वारा डॉ. त्रिपाठी के कार्यों की सराहना की गई और उन्हें रेखांकित किया गया. इस अवसर पर डॉ. त्रिपाठी के साथ गणमान्य लोगों में शिक्षाविद डॉ. बाबू कृष्णमूर्ति, कन्नड़ के प्रख्यात गायक डॉ. गुरुराज पोसकोटे, अशोक कुमार, डॉ. ज्योति एम. वेणुगोपाल, सुनीता गौड़ा, सी. एम. सिद्धराजू, कुमारी आर्या, गुरुवीर राज, तपन कुमार पटनायक, रेखा सतीश, मंजूश्री पांडव और उड़ीसा के पुलिस महानिदेशक राजेंद्र प्रसाद शर्मा को संस्था के राष्ट्रीय महासचिव एम. के. जैन ने शाल, श्रीफल, प्रशस्ति पत्र और प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया.

    इस अवसर पर डॉ. अशोक त्रिपाठी ने अपने संबोधन में संस्था और उसके संचालकों को धन्यवाद देते हुए कहा कि हमने राष्ट्र के लिए पूरे तन-मन-धन से रेलवे बोर्ड की यात्री सुविधा समिति के साथ रेलयात्रियों के हितार्थ काम करते हुए जितना संभव हो सका सुधार करने का प्रयास किया. समिति में नामांकित करके पूर्व रेलमंत्री माननीय सुरेश प्रभु ने उन्हें जो जनसेवा का अवसर प्रदान किया था, उसे उन्होंने पूरी ईमानदारी से निभाने का प्रयास किया. उन्होंने कहा कि इन ढ़ाई सालों में रेलवे में जो बृहत्तर कार्य हुए, उनकी वह एक छोटी सी कड़ी थे. उन्होंने कहा कि उन्हें यह देखकर अत्यंत खुशी हो रही है कि मीडिया जगत में ऐसे लोग भी हैं जो जनसेवा के क्षेत्र में अच्छा काम करने वालों की पहचान करके उनके कार्यों को रेखांकित करते हैं.

    डॉ. त्रिपाठी ने कहा कि जहां भ्रष्टाचार का बोलबाला है, और हर काम के लिए सर्वसामान्य लोगों को पैसे देने पड़ते हों, वहां संस्था द्वारा ऐसे लोगों को प्रोत्साहित करना और उन्हें समाज के सामने प्रस्तुत करना राष्ट्र के लिए एक बड़ा योगदान है. उन्होंने कहा कि वह इस महती कार्य के लिए संस्था और इसके चेयरमैन एवं महासचिव सहित सभी पदाधिकारियों को तहे-दिल से धन्यवाद् देते हैं कि उन्होंने बिना किसी पूर्व परिचय के उनके कार्यों एवं योगदान की पहचान करके यहां उन्हें बुलाया और सम्मानित किया. उन्होंने मंच से यह भी कहा कि उन्हें बताया गया है कि संस्था द्वारा पिछले काफी समय से उनके कार्यों का आकलन किया जा रहा था. इसलिए वह यह बात बड़े ही गर्व के साथ कह सकते हैं कि समाज में आज भी ईमानदारी जिंदा है.

Important Links